अगर आप अंडर गारमेंट्स पहनते है तो इसे जरुर पढ़ ले - If you wear undergarments read it

अगर आप अंडर गारमेंट्स पहनते है तो इसे जरुर पढ़ ले - If you wear undergarments read it

आपने देखा होगा कि लोग अक्सर कपड़े धोते समय कुछ महतवपूर्ण बातों को अनदेखा कर देते हैं। कुछ लोग लांड्री बैग या वाशिंग मशीन में सारे कपड़े सफेद टीशर्ट , मोज़े , जैकेट और यहां तक कि अंडर गारमेंट्स भी रख देते हैं। कपड़े धोते समय उन सभी कपड़ों को एक साथ धो दिया जाता है। सबसे जरुरी बात यह है कि हमें सभी कपड़ों के साथ अंडर गारमेन्ट्स को नहीं धोना चाहिए।



शोधकर्ताओं ने इस बात को लेकर जब अध्यनन किया तो यह ज्ञात हुआ कि 100 में से 90 महिलायें कपड़ों के साथ ही अंडर गारमेंट्स को धो देती हैं। ज्यादातर महिलायें समय, पानी और डिटर्जेंट बचाने के लिए इसे अन्य कपड़ों के साथ ही वॉशिंग मशीन में धो देती हैं। अंडर गारमेंट्स हमारे शरीर के ऐसे हिस्सों से जुड़े होते हैं जहा से हम मल-मूत्र त्यागते हैं । ऐसे में इन कपड़ों में इन्फेक्शन आदि होते हैं जिससे दूसरे कपडे़ में भी इन्फेक्शन बैक्टीरिया चले जाते हैं।

ज्यादातर वाशिंग मशीन 15 डिग्री सेल्सियस कपड़ों को धोती है लेकिन हमारे अंडर गारमेंट्स में बैक्टीरिया होने की वजह से उनको आवश्यक तापमान न्यूनतम 40 डिग्री सेल्सियस चाहिए होता है। हमें अपने अंडर गारमेंट्स को अलग गर्म पानी में धोने की आवश्यकता होती है जिससे संक्रमण का खतरा न रहे।

शिशुओं और वृद्ध लोगों में कम प्रतिरक्षा होती है और वो हमारे मुकाबले संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनात्मक होते हैं। उनके कपड़ों को बाकी सब कपड़ों से अलग धोने की जरुरत होती है। यदि घर में कोई बीमार या कमजोर है तो उसके कपड़ों और अंडर गारमेंट्स को सबसे अलग धोना चाहिए जिससे एक दूसरे के कपड़ों में जीवाणु लगने का डर न रहे और इन्फ़ेक्शन से दूर रहा जा सके।

एक टिप्पणी भेजें