Thursday, July 29, 2021

हम एक SEO फ्रैंडली पोस्ट कैसे लिख सकते है ? How Can We Write A SEO Friendly Post or Articles

हम एक SEO फ्रैंडली पोस्ट कैसे लिख सकते है ? How Can We Write A SEO Friendly Post or Articles 


(PLEASE USE GOOGLE TRANSLATOR)


हेलो दोस्तों फिर से आपका स्वागत है आप के अपने Mera Hindi Blog पर जहाँ में अपने प्रैक्टिकल अनुभव के आधार पर आप को ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित बाते और टिप्स बताता हु। 

आज में आप से बात करने वाला हु SEO के बारे में , आपने देखा यूट्यूब या किसी ब्लॉग पोस्ट में जब भी ब्लॉग्गिंग से रिलेटेड जानकारी लेने के लिए देखा होगा तो उधर SEO के बारे में जरूर बताया जाता है और इसे काफी महत्व दिया जाता है। SEO एक ऐसी तकनीक है जिसे ठीक से समझ लिया तो आप अपने आर्टिकल या पोस्ट को गूगल में आराम से रैंक करा सकते है।  इसीलिए कहा जाता है की आर्टिकल या पोस्ट SEO Friendly होना चाहिए। 


मेरा आप से अनुरोध है की SEO क्या है ? या हम हम एक SEO फ्रैंडली पोस्ट कैसे लिख सकते है ?  को जानने से पहले आप blogging के बेसिक जान लीजिये।    इसके लिए आप  इस लिंक पर जा कर पढ़ सकते है जो मुझे काफी उपयोगी लगा और ये Hindi Me Blogging करने वालो के लिए काफी अच्छा है। (How to Start Blogging In Hindi and Meaning of Blog) इस पोस्ट में आप को कीवर्ड रिसर्च , टॉपिक , वर्ड लिमिट आदि के बारे में बताया है। 



How to write SEO Friendly post
How to write SEO Friendly post





Table of Contents 

1. SEO क्या होता है ? और SEO का फुल फॉर्म किया है ?

2. SEO का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पोस्ट में कैसे करे ?(Off page SEO और On Page SEO) 

3. Keyword Research में SEO का क्या रोल है ?

4. पोस्ट के मुख्य हेडिंग में टाइटल या कीवर्ड का इस्तेमाल करे। 

5. अपने ब्लॉग URL को Seo Friendly कैसे बनाये ?

6. Meta descriptions या Search Description का उपयोग करे।

7 . अपने ब्लॉग पोस्ट में Outbound Link का इस्तेमाल जरूर करे। 

8. ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल का लेंथ कितना होना चाहिए ? 





1. SEO kya  hota hai  ? और SEO का फुल फॉर्म किया है ?



आप  ब्लॉग्गिंग हिंदी में करे या English में, SEO का इस्तेमाल एक जैसा होता है। SEO FULL FORM  : SEARCH ENGINE OPTIMIZATION  (सर्च इंजन अनुकूलन )। 

यदि आसान शब्दों में  बोलू तो इसका मतलब है की अपने आर्टिकल या पोस्ट को इस तरिके से लिखना जिससे सर्च इंजन यानि गूगल या याहू आप के पोस्ट को ऐसे लोगो को दिखाए जो जानकारी लेना या ढूंढ रहे हो। 


किसी को लेटर लिखना और एक ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल लिखना , दोनों में बहुत अंतर है यदि आप इस अंतर को समझ गए तो समझो आप SEO Friendly ब्लॉग लिखने के मास्टर हो जाओगे। ये आर्टिक्ल पूरा SEO पर लिख रहा हु, इसीलिए मैंने इस टॉपिक को छोटे छोटे हैडिंग में बात दिया है जिस से आप को समझने और पढ़ने में मज़ा आये। 


यदि आप पूरा आर्टिकल पढ़ते है तो मेरा दावा है की आप को ब्लॉगर बनने से कोई नहीं रोक सकता। 

जैसा की मैंने ऊपर बोला की अपने आर्टिकल और पोस्ट को ऐसे लिखना ताकि उसे गूगल और याहू अपने सर्च रिजल्ट में दिखाए।  अब ये कैसे होगा और क्या करना होगा उस्की जानकारी आप को निचे दे रहा हु। 



 

2. SEO का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पोस्ट में कैसे करे ?(Off Page SEO and On Page SEO)



SEO का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पोस्ट में कैसे करे
How Can We Write A SEO Friendly Post or Articles 



अब बात आती है की हम SEO का उपयोग या इस्तेमाल अपने आर्टिकल और ब्लॉग पोस्ट में कैसे करे ?  SEO का इस्तेमाल हम अपने आर्टिकल में दो प्रकार से करते है पहला Off Page SEO और On Page SEO   से करते है हालाँकि इसका सम्बन्ध Keyword Research से भी इसकी जानकारी भी इसी पोस्ट में मिलेगा। 


1. Off Page SEO कैसे करे 


अपने ब्लॉग या वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ने के लिए और नए विज़िटर लाने के लिए Off Page SEO का बहुत बड़ा रोल होता है और ब्लॉग या वेबसाइट को जल्दी रेंक करने में मदद करता है। चलिए में कुछ तरीके बताता हु की आप कैसे Off Page SEO कर सकते है। 

(i)  Social Networking Site पर प्रोफाइल :-


Off Page SEO के लिए Social Networking Website काफी हेल्प करती है।  इसलिए आप अपना प्रोफाइल हर उस सोशल नेटवर्क साइट जैसे Facebook, Twitter , Koo, Linkdin आदि पर बना ले और अपने प्रोफाइल के साथ एप ब्लॉग या वेबसाइट का URL भी मेंशन करे। आप रेगुलर अपने पोस्ट को सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर शेयर करते रहे। 


(ii)  Search Engine Submission यानि Google webmaster और Yahoo/Bing Webmaster पर indexed करे। :-


आम तौर पर नये ब्लॉगर अपने ब्लॉग वेबसाइट को सर्च इंजन यानि webmaster में सबमिट नहीं करते और सोचते है की कुछ ट्रैफिक आने पर कर लेंगे। ये भारी भूल होती है जैसे ही आप अपना ब्लॉग बना ले तुरंत आप Google webmaster और Yahoo/Bing Webmaster पर indexed करे। 

 यदि आप ब्लॉग को वेबमास्टर में इंडेक्स्ड नहीं करते तो आप का वेबसाइट गूगल या याहू सर्च रिजल्ट में नहीं आएगा या काफी लम्बा समय लग जायेगा जो ब्लॉग के लिए अच्छा नहीं है। 


(iii)   Questions के Answer देना :-


आज कल ऐसे बहुत से मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट है जहा लोग questions करते है और अपना answer ढूंढते है।  उदाहरण के लिए Quora जो एक Questions और  Answer वाला वेबसाइट है।  आप यहाँ अपना प्रोफाइल बना सकते है और अपना ब्लॉग का लिंक दाल सकते है जिस से आप को हाई अथॉरिटी की बैकलिंक भी मिल जाएगी। 

आप Quora पर फेसबुक जैसे पेज बना कर अपने आर्टिक्ल शेयर कर सकते है या अपने आर्टिकल और ब्लॉग से रिलेटेड लोगो के questions का answer दे कर निचे अपने आर्टिकल का लिंक शेयर कर सकते है। 

Note : Quora पर ज्यादा और बेवजह लिंक न दे नहीं तो अकाउंट ब्लॉक हो सकता है। 



(iv) ब्लॉग Photo Sharing करना :-

 
ब्लॉग्गिंग में हम अपने ब्लॉग या आर्टिकल से रिलेटेड कुछ image बनाते या डालते है आप इन्ही फोटो को ऐसी वेबसाइट पर डाल सकते है जहा फोटो डाली जाती है जैसे ShutterstockIstockphoto, DepositphotosUnsplash, Pexelsआदि।  इस से भी आप के ब्लॉग ट्रैफिक में काफी फर्क परता है और ब्लॉग रेंक करता है। 


(v) Directory Submission करना  :-

हमारे इंटरनेट की दुनिया में ऐसी बहुत से वेबसाइट है या Directory Submission Website है जहा हम फ्री और पेड दोनों तरीको से अपनी ब्लॉग वेबसाइट को सबमिट कर सकते है।  इससे ब्लॉग वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ती है और नए यूजर भी जुड़ते है। 

पर आप ध्यान रखे की अपने ब्लॉग को ऐसी कैटेगरी में सबमिट करे जिस टॉपिक या निच पर आप का ब्लॉग हो। 



(vi)  आर्टिकल सबमिट करना :-



यदि आप अपने ब्लॉग वेबसाइट पर, ब्लॉग खुद ही लिखते है तो आप एक काम कर सके है।  आप अपने आर्टिकल को इंटरनेट के दुनिया के Popular Article Directory Site पर भी पोस्ट कर सकते है इससे सब बड़ा लाभ होगा की आप के ब्लॉग पर धीरे धीरे आर्गेनिक ट्रैफिक आना शुरू हो जायेगा और  अच्छी अच्छी ब्लॉग से बैकलिंक भी मिल सकती है। 



(vii)  Guest Post :-

गेस्ट पोस्ट भी एक अच्छा तरीका है off page SEO का ऐसी बहुत सी वेबसाइट आप को मिल जाएँगी जो आप के blog nice से मिलती होंगी।  आप उधर एक गेस्ट पोस्ट कर सकते है और लिंक डाल सकते है अपने ब्लॉग का।  कुछ ब्लॉग फ्री गेस्ट पोस्ट देती है और कुछ इसके लिए चार्ज करती है तो आप अपने अनुसार इनका चुनाव कर सकते है। 


(viii)  Forum Marketing करना :-


आप किसी forums के साथ जुड़ कर अपने ब्लॉग को रेंक करने की कोशिश कर सकते है परन्तु आप को अपने टॉपिक और निच वाले forums चुनाव  करना होगा और एक्टिव यूजर की तरह threads का रिप्लाई और गाइडेन्स देना होगा।  इस से लोगो को लगेगा की आप अपने निच  एक्सपर्ट है  और आप की और ब्लॉग की एक अच्छी रेपुटेशन बन सकती है।  और यदि आप Do Follow Forums ज्वाइन होते है तो आप को एक do follow backlink
मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है। 



2. On - Page SEO कैसे करे ?


अब आप को पता या काफी हद तक जवाब मिल गया होगा की SEO  क्या है और Off Page SEO कैसे कर सकते है ? आप में आप को बताता  Page SEO Kaise करे? 


(i)  Website Speed अच्छी रखे :-

वेबसाइट की स्पीड SEO का एक मुख्य भाग है।  बड़े बड़े ब्लॉगरों की माने तो कोई भी ब्लॉग वेबसाइट 5 से 6 सेकंड में खुल जानी चाहिए परन्तु मेरा निजी मनना है की यदि आपका वेबसाइट 10 सेकंड में भी ओपन हो जाता है तो कोई दिक्कत वाली बात नहीं है बस आप का कंटेंट unique होना चाहिए।  


वेबसाइट की स्पीड अच्छी कैसे बना सकते है ?

कुछ तरीके है जिससे आप वेबसाइट को काफी हद तक तेज़ कर सकते है , जिन्हे में निचे बता रहा हु। 


1. आसान और अच्छा थीम लगा कर :-


हमेशा अपने ब्लॉग में एक आसान और अच्छा थीम का इस्तेमाल करे ताकि कोई उसे ओपन करे तो आसानी से खुल जाये।  आप काम से काम HTML code का इस्तेमाल करे ताकि लोडिंग टाइम काम से काम हो। 


2. पैड थीम का इस्तेमाल :-


आप से निजी तोर से बोलूंगा की आप कोशिश कीजिये की आप एक पैड थीम का ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योकि ऐसे थीम में थर्ड पार्टी लिंक नहीं होते और ना ही इनमे कोई एक्स्ट्रा  html कोड भी नहीं होता जिससे साइट जल्दी ओपन होती है। 

पेड थीम लेने का एक बड़ा लाभ यह है की आप को थीम अपडेटेड मिलेंगे और टाइम टाइम पर अपडेट भी मिलता रहेगा इसके अलावा टेक्निकल सपोर्ट भी  मिलता है। 


3. Free थीम के नुकसान :-



आप को ऑनलाइन फ्री में डेमो थीम मिल जाती है या फिर कई ऐसे ग्रुप है जो फ्री में प्रीमियम थीम देते है परन्तु में आप को बता दू की ऐसे थीम असली नहीं होती ये क्लोन या डुबलीकेट होती है।  साथ में इनमें थर्ड पार्टी लिंक होते है जो वेबसाइट को स्लो करते है। 

आप को कभी थीम ओनर से copy write  क्लेम मिल सकता है।  ऐसा नहीं है की इस से एडसेन्स अप्रूवल नहीं मिलता है, मिल जाता है पर भविष्य में यदि असली मालिक ने  copy write दिया तो दिक्कत हो सकती है। 

यदि आप ब्लॉग्गिंग को प्रोफेशनल और लम्बे समय के लिए करना चाहते है तो आप Paid Theme का इस्तेमाल करे 



4. Blog Website की Navigation :-



जब हम कही जाते है तो हमें उस जगह का अड्रेस पता  होना चाहिए बिना एड्रेस के बड़ी दिक्कत होगी।  ठीक उसी प्रकार  आप के ब्लॉग वेबसाइट पर नेविगेशन होना चाहिए यानी यदि आप tech, online money, blogging tips , आदि पर आर्टिकल लिखते है तो आप के वेबसाइट पर इनका नेविगेशन या हैडिंग हो ताकि कोई साइट पर विजिट करे तो अपने पसंद के पोस्ट पर क्लिक कर के पढ़ सके।  उदाहरण के लिए आप इसी ब्लॉग  वेबसाइट को देख सकते है।   

यदि ऐसा नहीं होगा  तो विज़िटर वेबसाइट पर रुकेगा नहीं और किसी और ब्लॉग पर चला जायेगा। यानी blog Website Navigation is very Important for On Page SEO.  



5. पोस्ट का URL :-


ON Page SEO को ठीक से करने के लिए पोस्ट का url का काफी योगदान रहता है।  इसलिए आप अपने पोस्ट का url छोटा या मध्यम रखे और इस बात का ध्यान रखे के url बनाते समय अपने पोस्ट के हैडिंग या टॉपिक को जरूर मेंशन करे या रखे। 



6. Internal Link का इस्तेमाल करे  :-

On Page SEO के लिए ये भी जरुरी है की आपने ब्लॉग वेबसाइट के पोस्ट या आर्टिकल का एक दूसरे से लिंकिंग करे ताकि यूजर उस लिंक से आप के दूसरे पेज या पोस्ट पर जा सके इससे आप के ब्लॉग की DA में भी सुधार आता है। 




7. ALT Tag और Image Optimization :-


हम अपने ब्लॉग में अपने आर्टिकल और पोस्ट के अनुसार कोई न कोई image जरूर इस्तेमाल करते है परन्तु इमेज का साइज बड़ा हो तो वो लोडिंग या खुलने में समय लेता है और इससे वेबसाइट या पेज की स्पीड भी धीरे हो जाती है इसलिए हमेसा image optimization कर के किसी image का इस्तेमाल करे।   (Best  SEO Friendly Image format is  JPEG, PNG, GIF, TIFF, PSD,) 

बात रही ALT TAG की तो Alt Tag को Alt Text (Alternative Text), alt attribution, alt descriptions  भी कहा जाता है और इसका इस्तेमाल पेज पर लगाए जाने वाले image को बताने के लिए किया जाता है। 




8. Keyword का इस्तेमाल :- 


जब आप किसी टॉपिक पर पोस्ट या आर्टिकल लिखे सब से पहले इसमें से एक मुख्य keyword को चुन ले और कोशिश करे की ऐसे कीवर्ड का इस्तेमाल आप अपने आर्टिकल में इस प्रकार से करे को आपके टॉपिक से रिलेट हो।  कोशिश करे की ऐसे कीवर्ड के सामनार्थ वाले कीवर्ड का भी इस्तेमाल करे क्योकि गूगल ऐसे आर्टिकल को रेंक करने में मदद करता है। 

 दूसरी भाषा में बोले तो आप कीवर्ड का इस्तेमाल ऐसे करे जैसे कोई यूजर उस इनफार्मेशन को सर्च करने के लिए google Search Engine में टाइप करता है। 



इसके अलावा आप वेबसाइट स्पीड , टाइटल टैग कंटेंट और मैन कीवर्ड को बोल्ड जरूर कर ले।  यदि आपने इन on  page seo और off page seo को ठीक से समझ जे अपना लिया तो आप के ब्लॉग को रेंक करने से google भी नहीं रोक सकता है। 



ये भी पढ़े 







3. Keyword Research में SEO का क्या रोल है ?


आप जानते है की सभी ब्लॉगर चाहे वो नये हो या पुराने blog post लिखने से पहले Keyword Research पर ज्यादा जोड़ डालते है। आपने कभी सोच की आखिर Keyword Research में SEO का क्या रोल है ?  कुछ को पता होगा कुछ इसका जवाब ढूंढ रहे होंगे तो में यहाँ बड़े ही आसान तरीके से समझने या बताने की कोशिश करूँगा। 


मान लीजिये आप किसी डिजिटल प्रोडक्ट के बारे में आर्टिकल लिखनाचाह रहे है तो आप क्या करेंगे ? क्या आप खाली उसी प्रोडक्ट के बारे में लिखेंगे ? यदि आप का जवाब हाँ है तो आप SEO फ्रेंडली पोस्ट नहीं लिख रहे है। 

यदि आप इस टॉपिक पर keyword Research करते है तो आप को इससे रिलेटेड कई सारे आइडियाज मिलेंगे जैसा की आप निचे Image में देख सकते है। 
Keyword Research for SEO
Keyword Research for SEO 





अब आप को अपने Digital Product  के बारे में लिखते समय आप को इन सभी टॉपिक या आईडिया को ध्यान में रख कर अपने आर्टिकल  लिखना है। 


यानी Keyword Research इसलिए किया जाता है ताकि ये पता लग सके की , जो Digital Product या किसी अन्य विषय के बारे सर्च कर रहा है वो इससे रिलेटेड क्या - क्या सर्च करता है या इससे सम्बंधित क्या जानना चाहेगा ताकि उसके अनुसार आर्टिकल या पोस्ट लिखा जा सके  


अब मुझे लगता है की आप समझ गए होंगे की Keyword Research में SEO का क्या रोल है ?




4. पोस्ट के मुख्य हेडिंग में टाइटल या कीवर्ड का इस्तेमाल करे।


जब भी आप किसी भी टॉपिक पर कोई आर्टिकल लिखे तो आप ये कोशिश जरूर करे की आप अपने मुख्य हैडिंग में नीच से सम्बंधित टाइटल और कीवर्ड का इस्तेमाल करे ये SEO का ही एक पार्ट है और पोस्ट और ब्लॉग को रेंक करने में मदद करता है। 

ये छोटी छोटी बाते बहुत ही महत्वपूर्ण होती है और नए ब्लॉगर इन चीज़ो पर ध्यान नहीं देते। 



5. अपने ब्लॉग URL को Seo Friendly कैसे बनाये ?


SEO फ्रेंडली ब्लॉग के लिए जरुरी है की आप आर्टिकल या पोस्ट के URL को ऑप्टिमाइज़ करे। और परमानेंट url बनाते समय आप अपने ब्लॉग हैडिंग को जरूर मेंशन करे साथ हे एप यूआरएल को ज्यादा लम्बा ना रखे।  यदि छोटे url में आप के ब्लॉग टाइटल कवर हो जाता है तो बेस्ट है। 


6. Meta descriptions या Search Description  का उपयोग करे। 


ब्लॉगर या वर्डप्रेस पर आप को अपने ब्लॉग से रिलेटेड Meta descriptions या Search Description  लिखने का ऑप्शन मिलता है जिसे जरूर लिखना चाहिए ताकि आप का पोस्ट ज्यादा से ज्यादा लोगो तो पहुंचे। 

सर्च डिस्क्रिप्शन लिखते समय अपने टेबल ऑफ़ कंटेंट का इस्तेमाल करे ताकि लोगो को पता चले की आप किन किन बातो को ले कर पोस्ट लिख रहे है।  जितना अच्छा आप डिस्क्रिप्शन लिखेंगे उतना हे अच्छा रिस्पांस मिलेगा। 



7. अपने ब्लॉग पोस्ट में Outbound Link का इस्तेमाल जरूर करे। 


Outbound Link वो लिंक होता है जिसमे आप अपने ब्लॉग पोस्ट में किसी दूसरी वेबसाइट का लिंक डालते है।  आप के वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ाने के लिए ये outbound link काफी अच्छा रोल निभाते है। 

लेकिन इस टाइप की लिंक देने से पहले ये जरूर ध्यान रखे की आप उन्ही वेबसाइट का लिंक दे जो आप के नीच से रिलेटेड हो या फिर जो आप रेफ़्रेन्स देना चाह रहे हो वो वेबसाइट से रिलेटेड हो। इससे आपको Do follow लिंक भी मिलने की सम्भावना रहती है। 

आउटबाउंड लिंक में हमेशा ऐसे वेबसाइट का लिंक दे जो आप के विज़िटर के लिए उपयोगी हो। 



8. ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल का लेंथ कितना होना चाहिए ? 


अब बात आती है की हम अपने आर्टिकल और ब्लॉग को कितने वर्ड का लिखे जिससे रेंक करने में आसानी हो।  पहली बात तो में बता दू कुछ बड़े ब्लॉगर तो 700 -800 वर्ड लिख कर भी अपने पोस्ट को रेंक करा लेते है पर इसका मतलब ये नहीं है की आप भी इतने ही वर्ड का आर्टिकल लिखे। 

जब भी आप कोई आर्टिकल लिखे आप ऊपर बताई गयी टिप्स को ध्यान में रख कर लिखे और कम से कम 1200 -2500 वर्ड के बिच में आर्टिकल लिखे। 


इसके पीछे कारण यह है की किसी और ने भी सामान टॉपिक पर कोई आर्टिक्ल लिखा होगा और उसकी लेंथ आप के आर्टिकल से कम होगी तो आप का आर्टिकल रेंक कर सकता है पर आर्टिकल यूनिक होना चाहिए। 







निष्कर्ष:

आप को मैंने अपनी और से पूरी कोशिश है की आप की हैल्प कर सकू की हम एक SEO फ्रैंडली पोस्ट कैसे लिख सकते है ? मैंने जो भी प्रैक्टिकल सीखा और एक्सपीरयंस लिया है उसके आधार पर में आप को बोल सकता हु की आप ऊपर बताये गए टिप्स को फॉलो करते है तो आप 3 मंथ में ब्लॉग्गिंग सिख जायेंगे। 

और आप को बता दू जैसे जैसे आप ये सब टिप्स इस्तेमाल करते है आप को और भी टिप्स और आईडिया मिला शुरू हो जाता है यानी आप और भी ज्यादा चीज़े सिखने लग जाते है और धीरे धीरे आप एक Pro -Blogger बन जायेंगे। 


कामयाबी का कोई छोटा तरीका (Short-Cut) नहीं है, आप को मेहनत जरूर करना पड़ेगा कुछ लोग पेड सर्विस लेते है और कुछ खुद ही मेहनत करते है। यदि आप best web hosting ले कर वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाना चाहते है तो क्लिक कर के रिव्यु पढ़ सकते है। 

NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

Delivered by FeedBurner